Wednesday, 2 September 2020

छत्तीसगढ़ के प्रमुख मंदिर




***छत्तीसगढ़ के प्रमुख मंदिर***


 

 

छत्तीसगढ़ के प्रमुख मंदिर निम्न है :-

 

  ******भोरम देव मंदिर -

* यह कबीरधाम  जिले का प्रमुख पर्यटन स्थल है।  इसे छत्तीसगढ़ का खजुराहो भी कहा जाता है।  इस मंदिर का  निर्माण  1089 ई.  में फणिनाग  वंश  के राजा गोपालदेव  ने करवाया था। 

* यह  नागर शैली में निर्मित मंदिर है  तथा इस मंदिर की दीवारों पर हाथी  , घोड़े , नटराज  , गणेश की मूर्तियां  बनी है।  भोरमदेव  का मंदिर  छत्तीसगढ़ की स्थापत्य कला एवं मूर्तिकला में अपना विशेष स्थान रखता है। 

 

 

*****राजीव लोचन  मंदिर -

* यह मंदिर राजिम में स्थित है , जिसका निर्माण  नलवंशी शासक  विलासतुंग   ने कराया  था।   यह पंचायतन  शैली में निर्मित विष्णु भगवान का  मंदिर है। 

दंतेश्वरी  देवी मंदिर -

*  यह शंखिनी  तथा डंकिनी  नदी के तट पर स्थित  एक प्राचीन  मंदिर है तथा इसके आस -पास  का क्षेत्र  शाक्य  मत  की उग्र  उपासना  का प्रमुख केंद्र रहा है। 

* यह  प्राचीन मंदिर  दंतेवाड़ा  में स्थित है।  इसका निर्माण  काकतीय  वंश  के राजा  अन्नमदेव  ने करवाया था।  मंदिर  के गर्भगृह में  महिषासुरमर्दिनी  की जो  भव्य प्रतिमा  विराजमान है , उसे  दंतेश्वरी  देवी पुकारा जाता  है। 

* मंदिर  के परिसर  में शिव  , गणेश  , नंदी  तथा  विष्णु  आदि  की प्राचीनतम  प्रतिमाएं  स्थापित है। 

 

 

*****डिडिनेश्वरी  मंदिर तथा पातालेश्वर  मंदिर-

* डिडिनेश्वरी  मंदिर  तथा पातालेश्वर  मंदिर  यह दोनों  मंदिर बिलासपुर जिले के मल्हार में स्थित है।   डिडिनेश्वरी  मंदिर  तथा  पातालेश्वर  मंदिर  में चतुर्भुजी  विष्णु  की प्रतिमा  अवस्थित  है।  विष्णु  की चतुर्भुजी  मूर्ती राज्य  में सबसे  पुरानी  मूर्ति  है , जो  मौर्यकालीन  मानी  जाती है। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

*****देवरानी -जेठानी  मंदिर -

* ये मंदिर  बिलासपुर जिले के तालगांव  में स्थित  है।  देवरानी जेठानी  मंदिर  भगवान  शिव  को  समर्पित  है।  देवरानी , जेठानी  मंदिर से  लगभग  15   किमी.  दूरी पर स्थित  है।  

* इसका निर्माणकाल  5 वीं  से 6 वीं  शताब्दी है। 

 

 

 

 

 

 

****** मामा - भांजा  मंदिर -

* यह मंदिर  राज्य के दंतेवाड़ा  जिले  के बारसूर में स्थित  है।  यह  राज्य के प्रसिद्ध  पर्यटन  स्थलों  में से एक है। 

 

  

****** मां  बम्लेश्वरी  देवी मंदिर -

* यह मंदिर  डोंगरगढ़  में राज्य की  सबसे ऊँची  चोटी पर स्थित है।  इस मंदिर  का निर्माण  राजा  वीरसेन  ने कराया  था  डोंगरगढ़  में माँ  बम्लेश्वरी  के दो  मंदिर है , पहाड़ी पर स्थित  मंदिर  को बड़ी   बम्लेश्वरी  माता व नीचे स्थित  मंदिर को छोटी बम्लेश्वरी माता  के नाम से जाना जाता  है। 

 

 

***** सिरपुर   लक्ष्मण मंदिर -

*  सिरपुर का  लक्ष्मण मंदिर  लाल ईटो से बना हुआ अतिप्रसिद्ध  है। सिरपुर प्राचीन छत्तीसगढ़ की राजधानी थी। 

 


No comments:

Post a Comment

छत्तीसगढ़ में महाजनपद काल

  छत्तीसगढ़ में महाजनपद काल       * भारतीय इतिहास में छठी शताब्दी ईसा पूर्व का विशेष महत्व है ,  क्योकि  इसी समय से ही भारत का व्यवस्थित इतिह...