Monday, 31 August 2020

छत्तीसगढ़ महिला एवं बाल विकास से सम्बन्धित योजनाएं

 

*****छत्तीसगढ़ महिला एवं बाल  विकास से सम्बन्धित योजनाएं****

 


महिला  एवं बाल विकास से सम्बन्धित  परियोजनाएं  निम्न है:-

*** महतारी  जतन  योजना  - इस  योजना का आरम्भ वर्ष 2016  में सलगंवाकला ,  सोनहट  ( कोरिया )  से किया गया।  इस योजना का उद्देश्य  गर्भवती  महिलाओं को  कुपोषण से  मुक्त करना है।  

 

*** मुख्यमंत्री 'अमृत ' योजना - इस योजना का आरम्भ 29  अप्रैल ,  2016  को सुकमा  जिले से किया गया।  इस  योजना का  उद्देश्य  3 से 6 वर्ष के  बच्चो को कुपोषण से मुक्त करना है। 

 

 

***बेटी  बचाओं  बेटी  पढ़ाओं  अभियान - यह केंद्र सरकार की योजना है।  इस योजना के  अंतर्गत  छत्तीसगढ़  में रायगढ़  जिले  का चयन  किया गया है  तथा  रायगढ़  में इसे  22जनवरी , 2015  को प्रारम्भ  किया गया है।  इसका  मुख्य उद्देश्य  जन्म के समय लिंगभेद समाप्त करना , बालिकाओं  की  सुरक्षा  तथा  शिक्षा  को  सुनिश्चित करना है। 

 

 

 

 

*** नोनी सुरक्षा  योजना -  छत्तीसगढ़  सरकार ने महिला एवं बाल विकास विभाग  के समन्वय  से  राज्य  की  लड़कियों  के लिए  यह योजना  वर्ष 2014  में शुरू की।  इस योजना के तहत  1 अप्रैल, 2014  के बाद  पैदा  हुई गरीबी रेखा से नीचे  की लड़कियों को लाभ प्रदान किये जायेंगे।  इस योजना के तहत 1 लाख रु  की वित्तीय सहायता  18 वर्ष  पूरा  करने और  12 वी  कक्षा उत्तीर्ण  करने के  बाद  पंजीकृत  लड़कियों को  प्रदान करने का प्रावधान  है।

 

*** नवाजतन  योजना  - इस योजना का आरम्भ  वर्ष 2012 में कोण्डागांव  से किया  गया।  यह योजना प्रदेश में कुपोषण  के  स्तर को  कम  करने के लिए  प्रारम्भ  की गई  योजना है। 

 

 

 

*** मुख्यमंत्री  बाल श्रवण योजना - इस योजना की शुरुआत   6 अप्रैल , 2010  को राष्ट्रीय  ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन की सहायता से की गयी।  इसका उद्देश्य  छोटे बच्चो में होने वाले  बधिरता के दुष्प्रभावों को  कम करना तथा   भाषा  व वाणी  का विकास करना है। 

 

 

*** सबला  योजना - यह योजना वर्ष  2010 में  प्रारम्भ की गई थी।   इस योजना के अंतर्गत  11 से 18 वर्ष  तक की किशोर बालिकाओं  के समूह को लक्षित  किया गया है।  इसके अंतर्गत लक्षित जिले के  गरियाबंद , बलौदाबाजार  , रायपुर ,  रायगढ़ , राजनांदगांव  , कोण्डागांव  , बस्तर  , सरगुजा  एवं  बलरामपुर  है।   इस योजना के तहत  किशोरी बालिकाओं को  पूरक  पोषण  आहार  दिया  जाता है। 

 

 

*** स्वावलंबन  योजना  - इस योजना का आरम्भ  वर्ष  2009 -10 में  किया गया था।  इसके अंतर्गत  विधवा  ,  कानूनी  तौर पर तलाक शुदा  महिलाओं को  5000  तक का ऋण उपलब्ध कराया जाता है।

 

 

*** किशोरी  शक्ति योजना - यह योजना वर्ष  2008 -09 में प्रारम्भ की गई थी।  महिला एवं  बाल विकास  विभाग  द्वारा  11 -18  वर्ष  की  बालिकाओं के लिए  यह योजना  प्रारम्भ  की गई  है।   यह योजना  वर्तमान में  राज्य के 17 जिलों की 92  आई सी  डी  एस  परियोजनाओं  के तहत  संचालित  की जा रही है। 

 

 

*** मुख्यमंत्री  कन्यादान  योजना - इस योजना का आरम्भ  वर्ष 2005 -06  में किया गया था , जिसका उद्देश्य  निर्धन  परिवारों को कन्या  के विवाह  के संदर्भ  में होने वाली  आर्थिक  कठिनाइयों  को दूर करना है।   इसके अंतर्गत  15000  राशि विवाह के अवसर  पर प्रदान की जाती है। 

 

 

*** जननी  सुरक्षा  योजना - इस योजना का शुभारम्भ  वर्ष 2005  में किया गया था।  इस योजना का उद्देश्य  संस्थागत  प्रसव  को बढ़ाना तथा  मातृ  मृत्यु दर  एवं शिशु  मृत्यु दर  में कमी  लाना है।   इसके  अंतर्गत  अस्पताल  में प्रसव  कराने पर   ग्रामीण महिलाओं को 1400 रु तथा शहरी  महिलाओं को  1000 रु  की राशि दी जाती है।  

 

 

*** इंदिरा  सहारा योजना - 19  नवंबर , 2002  से चालू इस योजना में 18 से 50  वर्ष की आयु समूह की सभी  निराश्रित  , विधवा  व  परित्यक्ता ( छोड़ी गई  महिला )   महिलाओं को  सरकार द्वारा  सामाजिक  सुरक्षा देने  का प्रस्ताव  निर्धारित है। 

 

 

*** छत्तीसगढ़  निर्धन  कन्या  सामूहिक विवाह  योजना -  इस योजना का उद्देश्य   निर्धन  परिवारों को कन्या के विवाह  के संदर्भ  में  होने वाली  आर्थिक  कठिनाइयों  का निवारण ,  विवाह  के अवसर  पर होने वाली  फिजूल  खर्चों  को रोकना  एवं सादगीपूर्ण  विवाह को बढ़ावा  देना  है।  

इसके अंतर्गत  गरीबी रेखा  से नीचे  जीवन -यापन करने वाले  परिवारों की 18 वर्ष  से अधिक आयु की अधिकतम दो  कन्याओं को  आर्थिक  सहायता ( वैवाहिक  आवश्यकता  हेतु )  दी  जाती है।

 

 


No comments:

Post a Comment

छत्तीसगढ़ में महाजनपद काल

  छत्तीसगढ़ में महाजनपद काल       * भारतीय इतिहास में छठी शताब्दी ईसा पूर्व का विशेष महत्व है ,  क्योकि  इसी समय से ही भारत का व्यवस्थित इतिह...