Wednesday, 29 July 2020

छत्तीसगढ़ में मजदूर आंदोलन , Labour movement in chhattisgarh , majdoor aandolan cg , cgpsc

***छत्तीसगढ़ में  मजदूर  आंदोलन ****

 

प्रमुख  मजदूर  आंदोलन  निम्न  प्रकार  थे  :-

 

प्रथम  मजदूर  आंदोलन , 1920 

* प्रथम  मजदूर  आंदोलन  के प्रणेता  ठाकुर  प्यारेलाल  सिंह  थे।  वर्ष 1920  में असहयोग  आंदोलन के दौरान  उन्होंने  बी.  एन.  सी.   मिल , राजनांदगांव  के मिल  प्रबंधन  से असंतुष्ट  मजदूरों  को संगठित  कर  36  दिनों  की लम्बी  हड़ताल  करवा दी  थी।   इतने  लम्बे  समय तक चलने वाली देश की यह पहली  हड़ताल थी।  

*  अंततः  श्रमिक  नेता   वी. वी.  गिरी  ( भारत के पूर्व  राष्ट्रपति ) ने   मजदूर  हितो  में समझौता  कराया  था।  

* इस  आंदोलन  का मुख्य  कारण "अधिक  कार्य व कम  वेतन " था।  

 

 

द्वितीय  मजदूर  आंदोलन , 1924 

* मजदूर पर  दमनकारी  नीति  के विरोध  में   वर्ष 1924  में मिल  मजदूरों  ने ठाकुर  प्यारेलाल के नेतृत्व   में दोबारा  आंदोलन  प्रारम्भ किया था।  

* विरोध   के परिणामस्वरुप   श्रमिको  की मांगो  हेतु   जैक्सन  आयोग  का गठन  किया गया।  

 

 

 

तृतीय   मजदूर  आंदोलन , 1937 

 * मिल प्रबंधन  ने  मजदूरों  के वेतन  में 10 % की कटौती  कर दी थी।  इस पर मजदूर  पुनः  हड़ताल  की तैयारी  करने  लगे थे।  ठाकुर  प्यारेलाल  सिंह ने मजदूर  हित में पुनः  सक्रिय  होकर  मजदूर आंदोलन  किया।  

   

No comments:

Post a Comment

छत्तीसगढ़ में महाजनपद काल

  छत्तीसगढ़ में महाजनपद काल       * भारतीय इतिहास में छठी शताब्दी ईसा पूर्व का विशेष महत्व है ,  क्योकि  इसी समय से ही भारत का व्यवस्थित इतिह...